समय और गति

गति: जब किसी स्थिर वस्तु के परिप्रेक्ष्य में किसी वस्तु की स्थिति समय बदलने के साथ बदल जाती है तो हम कहते हैं कि वस्तु में गति है। जब आप चलती हुई बस को देखते हैं तो यह देखते हैं कि बिजली के खंभों के परिप्रेक्ष्य में बस की स्थिति बदलती रहती है। इससे आप आसानी से समझ जाते हैं कि बस गति कर रही है।

Speed Time Graph

तीव्र और मंद गति: यदि कोई वस्तु A किसी दूरी को वस्तु B की तुलना में कम समय में तय करती है तो हम कहते हैं कि वस्तु A तेजी से गति कर रही है जबकि वस्तु B धीमी गति कर रही है।

सरल रेखा में गति: जब कोई वस्तु एक सरल रेखा में गति करती है तो उसकी गति को सरल रेखीय गति कहते हैं। उदाहरण: सीधी सड़क पर चलती हुई कार।

वर्तुल गति: जब कोई वस्तु वक्राकार पथ पर गति करती है तो उसकी गति को वर्तुल गति कहते हैं: उदाहरण: मोड़ पर चलती हुई कार।

वृत्ताकार गति: जब कोई वस्तु किसी वृत्त पर गति करती है तो उसकी गति को वृत्ताकार गति कहते हैं। उदाहरण: मौत के कुँआ में चलती हुई मोटरसाइकिल।


चाल

किसी वस्तु द्वारा इकाई समय में तय की गई दूरी को चाल कहते हैं।

चाल = दूरी ÷ समय

चाल के तीन प्रकार होते हैं: समान चाल, असमान चाल और औसत चाल।

समान चाल: यदि प्रत्येक इकाई समय में कोई वस्तु समान दूरी तय करती है तो ऐसी चाल को समान चाल या समान गति कहते हैं।

असमान चाल: यदि कोई वस्तु अलग अलग इकाई समय में अलग अलग दूरी तय करती है तो ऐसी चाल को असमान चाल या असमान गति कहत हैं।

औसत चाल: कुल दूरी को कुल समय से भाग देने पर जो राशि मिलती है उसे औसत चाल कहते हैं।

औसत चाल = कुल दूरी ÷ कुल समय

चाल को गति भी कहते हैं।

आवर्ती गति

जब किसी वस्तु की गति नियत समय पर दोहराई जाती है तो उस वस्तु की गति को आवर्ति गति या दोलन गति कहते हैं। उदाहरण: पृथ्वी की घूर्णन गति, पंखे का घूमना, बच्चे का झूला झूलना, आदि।

पुराने जमाने की दीवार घड़ी में पेंडुलम (दोलक) का इस्तेमाल होता था। धागे से लटके हुए गोले से बनी युक्ति को पेंडुलम कहते हैं।

Simple  Pendulum

जब पेंडुलम का गोलक एक चरम स्थिति से दूसरी चरम स्थिति तक जाता है और फिर वापस पहली चरम स्थिति तक आता है तो वह एक दोलन पूरा करता है। जब गोलक माध्य स्थिति से एक चरम स्थिति पर जाता है फिर दूसरी चरम स्थिति पर जाकर वापस माध्य स्थिति पर पहुँचता है तब भी वह एक दोलन पूरा करता है।

आवर्त काल: पेंडुलम द्वारा एक दोलन पूरा करने में लिए गए समय को पेंडुलम का आवर्त काल कहते हैं।

आवर्त काल = दोलन की संख्या ÷ समय


समय की इकाई: समय की मूल इकाई सेकंड हैं। सेकंड को अंग्रेजी के s अक्षर से दिखाते हैं।

60 सेकंड = 1 मिनट

60 मिनट = 1 घंटा

24 घंटा = 1 दिन

7 दिन = 1 सप्ताह

365 दिन = 1 वर्ष

चाल की इकाई: चाल की मूल इकाई है मीटर प्रति सेकंड (m/s)। सहूलियत के हिसाब से इसे मीटर प्रति मिनट (m/min) या किलोमीटर प्रति घंटा में भी व्यक्त किया जाता है। (km/h).

स्पीडोमीटर: किसी वाहन की चाल मापने वाली युक्ति को स्पीडोमीटर या चालमापी कहते हैं।

ओडोमीटर: किसी वाहन द्वारा तय की गई दूरी मापने वाली युक्ति को ओडोमीटर कहते हैं।

दूरी समय ग्राफ जब किसी वस्तु द्वारा तय की गई दूरी और समय को एक ग्राफ से दिखाया जाता है तो उस ग्राफ को दूरी समय ग्राफ कहते हैं।

उदाहरण: यदि कोई वाहन हर घंटे 5 किमी की दूरी तय करती है और 5 घंटे तक चलती है तो इसे दूरी समय ग्राफ पर इस तरह दिखाया जा सकता है।

Distance Time Graph

दूरी समय ग्राफ में सरल रेखा से पता चलता है कि वस्तु समान चाल गति कर रही है। उस वस्तु की गति को यदि चाल समय ग्राफ पर दिखाया जाये तो x-अक्ष के समांतर रेखा बनती है।

Speed Time Graph

Copyright © excellup 2014