आरम्भिक नगर

NCERT Solutions

प्रश्न 1: पुरातत्वविदों को कैसे ज्ञात हुआ कि हड़प्पा सभ्यता के दौरान कपड़े का उपयोग होता था?

उत्तर: पुरातत्वविदों को मोहनजोदड़ो की खुदाई से कपड़ों के टुकड़े और फेयंस(फेयॉन्स) से बनी तकलियाँ मिली है। जिससे पता चलता है कि हड़प्पा सभ्यता के दौरान कपड़े का उपयोग होता था।

प्रश्न 2: निम्नलिखित को सूमेलित करो:

(a) ताँम्बा(1) गुजरात
(b) सोना(2) अफगानिस्तान
(c) टिन(3) राजस्थान
(d) बहुमूल्य पत्थर(4) कर्नाटक

उत्तर: (a) 3, (b) 4, (c) 2, (d) 1


प्रश्न 3: हड़प्पा के लोगों के लिए धातुएँ, लेखन, पहिया और हल क्यों महत्वपूर्ण थे?

उत्तर: हड़प्पा के लोगों के लिए धातुओं, लेखन, पहिया और हल का विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण उपयोग था। धातुओं का उपयोग हथियार, गहने, बर्तन और मुहर बनाने के लिए किया जाता था। लेखन कला द्वारा वे शायद विभिन्न व्यापारों का लेखा जोखा रखते थे। पहिये का उपयोग दूर दूर से सामानों को लाने और ले जाने के लिए किया जाता था। हल का उपयोग जमीन की जुताई के लिए किया जाता था, जिससे अनाज उपजाने में सुविधा होती थी।

प्रश्न 4: इस अध्याय में पकी मिट्टी (टेराकोटा) से बने सभी खिलौनों की सूची बनाओ। इनमें से कौन से खिलौने बच्चों को ज्यादा पसंद आए होंगे?

उत्तर: इस अध्याय में पकी मिट्टी से बने खिलौनों का चित्र दिखाया गया है। उसमें कुछ जानवरों की मूर्तियाँ, पहिये वाली गाड़ी और हल को दिखाया गया है। सभी जानवरों को तो वे पहले से देखते आ रहे थे, लेकिन पहिए वाली गाड़ी शायद पहली बार देख रहे थे। इसलिए बच्चों को शायद पहिए वाली गाड़ी सबसे ज्यादा पसंद आई होगी।

प्रश्न 5: हड़प्पा के लोगों की भोजन सामग्री की सूची बनाओ। आज इनमें से तुम क्या खाते हो?

उत्तर: हड़प्पा के लोग विभिन्न तरह के शाकाहारी और मांसाहारी भोजन करते थे। वे लोग अनाज के रूप मे गेहूँ, जौ, दाल, मटर, धान, तिल और सरसों से बना पकवान खाते थे। साथ हीं वे फल, दूध, मांस और मछलियां भी खाते थे। इनमें से हर सामग्री आज भी हम सभी खाते हैं।

प्रश्न 6: हड़प्पा के किसानों और पशुपालकों का जीवन क्या उन किसानों से भिन्न था, जिनके बारे में तुमने पिछ्ले अध्याय में पढा है? अपने उत्तर में इसका कारण बताओ।

उत्तर: पिछले अध्याय से प्राप्त जानकारी के आधार पर किसानों और पशुपालकों का जीवन हड़प्पा के नगरों से कुछ भिन्न था। नवपाषाण युग के किसान भी वही काम करते थे, जो हड़प्पा के किसान करते थे। हड़प्पा में ज्यादा विस्तृत तरीके से खेती होती थी, जिससे अनाजों की उपज काफी मात्रा में होती थी। जिससे अपने उपयोग के अलावा बचे हुए अनाज और पशुओं को वे बेच देते थे। वहीं दूसरी ओर नवपाषाण युग के किसान और पशुपालक सिर्फ अपने उपयोग के लायक ही अनाज और पशु रख पाते थे। वे ग्रामीण जीवन बिताते थे जबकि हड़प्पा वालों का जीवन नागरीय जीवन था।


Extra Questions Answers

प्रश्न 1: भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे पहले किस आरम्भिक नगर की खोज की गई?

उत्तर: हड़प्पा

प्रश्न 2: पुरातत्वविदों ने कब इस स्थल को ढूंढा?

उत्तर: लगभग 80 साल पहले

प्रश्न 3: हड़प्पा का निर्माण कब हुआ था?

उत्तर: लगभग 4700 साल पहले

प्रश्न 4: ये नगर कहाँ स्थित है?

उत्तर: आधुनिक पाकिस्तान के पंजाब और सिंध प्रांत, भारत के गुजरात, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब प्रांत में।

प्रश्न 5: खुदाई में अग्निकुंड कहाँ मिले हैं?

उत्तर: कालीबंगा और लोथल में

प्रश्न 6: खुदाई से प्राप्त स्नानागार कैसे हैं? इसका इस्तेमाल किस लिए किया जाता था?

उत्तर: खुदाई से मोहनजोदरो में महान स्नानागार मिले हैं। जिसमें ईंट और प्लास्टर का इस्तेमाल किया गया है। इसमें दो तरफ सीढ़ियाँ बनाई गई है। इसमें कुएँ से पानी भरा जाता था। इसका इस्तेमाल शायद यहाँ के विशिष्ट नागरिक विशेष विशेष अवसरों पर स्नान के लिए करते थे।

प्रश्न 7: खुदाई में भंडार गृह कहाँ मिले हैं?

उत्तर: हड़प्पा, मोहनजोदड़ो और लोथल में

प्रश्न 8: घर, नाले और सड़कों का निर्माण योजनाबद्ध तरीके से एक साथ कहाँ किया गया था?

उत्तर: हड़प्पा में

प्रश्न 9: हड़प्पा सभ्यता में किन किन धातुओं का उपयोग किया जाता था?

उत्तर: सोने, चाँदी, ताम्बे, कंसई और टिन

प्रश्न 10: हड़प्पा से किस तरह के बर्तनों के अवशेष मिले हैं?

उत्तर: काले रंग से डिजाईन किए हुए खूबसूरत लाल मिट्टी के बर्तन

प्रश्न 11: हड़प्पा सभ्यता के नगरों के पतन के संभावित क्या कारण हो सकते हैं?

उत्तर: हड़प्पा सभ्यता के नगरों के पतन के संभावित कारण निम्नलिखित हैं:

  1. ईंट को पकाने के लिए ईंधन की जरूरत पड़ती थी, जिससे जंगलों का विनाश हो गया होगा।
  2. मवेशियों के बड़े बड़े झुंडों से घास चारागाह और घास वाले मैदान समाप्त हो गए होंगे।
  3. कुछ इलाकों में बाढ आ गई होगी|
  4. नदियों का पानी सूख गया होगा।


Copyright © excellup 2014