रासायनिक अभिक्रिया और समीकरण

NCERT अभ्यास प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1: नीचे दी गई अभिक्रिया के बारे में कौन सा कथन सही है?

2PbO(s) + C(s) ⇨ 2Pb(s) + CO2(g)

  1. (a) लेड ऑक्साइड का अवकरण हो रहा है
  2. कार्बन का ऑक्सीकरण हो रहा है
  3. कार्बन का अवकरण हो रहा है
  4. लेड का अवकरण हो रहा है
  1. (a) और (b)
  2. (a) और (c)
  3. (a), (b) और (c)
  4. इनमें से सभी

उत्तर: (1) (a) और (b)

प्रश्न 2: Fe2O3 + 2Al ⇨ Al2O3 + 2Fe

यह किस प्रकार की अभिक्रिया है?

  1. संयोजन अभिक्रिया
  2. द्वि-विस्थापन अभिक्रिया
  3. वियोजन अभिक्रिया
  4. विस्थापन अभिक्रिया

उत्तर: (d) विस्थापन अभिक्रिया

प्रश्न 3: क्या होता है जब लोहे की छीलन पर तनु हाइड्रोक्लोरिक एसिड डाला जाता है?

  1. हाइड्रोजन गैस और आयरन क्लोराइड का निर्माण होता है
  2. क्लोरीन गैस और आयरन हाइड्रॉक्साइड का निर्माण होता है
  3. कोई अभिक्रिया नहीं होती है
  4. आयरन साल्ट और जल का निर्माण होता है

उत्तर: (a) हाइड्रोजन गैस और आयरन क्लोराइड का निर्माण होता है

प्रश्न 4: संतुलित समीकरण से आप क्या समझते हैं? किसी समीकरण को संतुलित करना जरूरी क्यों होता है?

उत्तर: जब LHS और RHS में विभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या समान होती है तो समीकरण को संतुलित समीकरण कहते हैं। द्रव्यमान के संरक्षण के नियम का पालन करने के लिये किसी भी समीकरण को संतुलित करना जरूरी होता है। इस नियम के अनुसार द्रव्यमान का ना तो निर्माण किया जा सकता है और ना ही इसका विनाश किया जा सकता है।

प्रश्न 5: नीचे दिये गये कथनों को समीकरण के रूप में लिखें और उन्हें संतुलित करें।

प्रश्न (a): हाइड्रोजन गैस और नाइट्रोजन मिलकर अमोनिया बनाते हैं।

उत्तर: 3H2 + N2 ⇨ 2NH3

प्रश्न (b): जब हाइड्रोजन सल्फाइड गैस का दहन हवा में होता है तो सल्फर डाइऑक्साइड और जल का निर्माण होता है।

उत्तर:2H2S + 3O2 ⇨ 2H2O + 2SO2

प्रश्न (c): बेरियम क्लोराइड और अलमुनियम सल्फेट आपस में प्रतिक्रिया करते हैं तो बेरियम सल्फेट के सफेद अवक्षेप और अलमुनियम क्लोराइड का निर्माण होता है।

उत्तर: 3BaCl2 + Al2(SO4)3 ⇨ 2AlCl3 + 3BaSO4

प्रश्न (d): पोटाशियम और जल आपस में प्रतिक्रिया करके सोडियम हाइड्रॉक्साइड और हाइड्रोजन गैस का निर्माण करते हैं।

उत्तर: 3K + 2H2O ⇨ 2KOH + H2

प्रश्न 6: निम्नलिखित रासायनिक समीकरणों को संतुलित करें।

प्रश्न (a): HNO3 + Ca(OH)2 ⇨ Ca(NO3)2 + H2O

उत्तर: 2HNO3 + Ca(OH)2 ⇨ Ca(NO3)2 + 2H2O

प्रश्न (b): NaOH + H2SO4 ⇨ Na2SO4 + H2O

उत्तर: 2NaOH + H2SO4 ⇨ Na2SO4 + 2H2O

प्रश्न (c): NaCl + AgNO3 ⇨ AgCl + NaNO3

उत्तर: NaCl + AgNO3 ⇨ AgCl + NaNO3

प्रश्न (d): BaCl2 + H2SO4 ⇨ BaSO4 + HCl

उत्तर: BaCl2 + H2SO4 ⇨ BaSO4 + 2HCl

प्रश्न 7: निम्नलिखित अभिक्रियाओं के लिये संतुलित समीकरण लिखें।

प्रश्न (a): कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड + कार्बन डाइऑक्साइड ⇨ कैल्सियम कार्बोनेट + जल

उत्तर: Ca(OH)2 + CO2 ⇨ CaCO3 + H2O

प्रश्न (b): जिंक + सिल्वर नाइट्रेट ⇨ जिंक नाइट्रेट + सिल्वर

उत्तर: Zn + 2AgNO3 ⇨ Zn(NO3)2 + 2Ag

प्रश्न (c): अलमुनियम + कॉपर क्लोराइड ⇨ अलमुनियम क्लोराइड + कॉपर

उत्तर: 2Al + 3CuCl2 ⇨ 2AlCl3 + 3Cu

प्रश्न (d): बेरियम क्लोराइड + पोटाशियम सल्फेट ⇨ बेरियम सल्फेट + पोटाशियम क्लोराइड

उत्तर: BaCl2 + K2SO4 ⇨ BaSO4 + 2KCl


प्रश्न 8: निम्नलिखित अभिक्रियाओं के लिये संतुलित समीकरण लिखें और प्रत्येक के लिये अभिक्रिया के प्रकार बताएँ।

प्रश्न (a): पोटाशियम ब्रोमाइड (aq) + बेरियम आयोडाइड (aq) ⇨ पोटाशियम आयोडाइड (aq) + बेरियम ब्रोमाइड (s)

उत्तर: 2KBr (aq) + BaI2 (aq) ⇨ 2KI (aq) + BaBr2 (s)

द्वि-विस्थापन अभिक्रिया

प्रश्न (b): जिंक कार्बोनेट (s) ⇨ जिंक ऑक्साइड (s) + कार्बन डाइऑक्साइड (g)

उत्तर: ZnCO3 (s) ⇨ ZnO (s) + CO2 (g)

वियोजन अभिक्रिया

प्रश्न (c): हाइड्रोजन (g) + क्लोरीन (g) ⇨ हाइड्रोजन क्लोराइड (g)

उत्तर: H2 (g) + Cl2 (g) ⇨ 2HCl

संयोजन अभिक्रिया

प्रश्न (d): मैग्नीशियम (s) + हाइड्रोक्लोरिक एसिड (aq) ⇨ मैग्नीशियम क्लोराइड (aq) + हाइड्रोजन (g)

उत्तर: Mg (s) + 2HCl (aq) ⇨ MgCl2 (aq) + H2 (g)

विस्थापन अभिक्रिया

प्रश्न 9: ऊष्माक्षेपी और ऊष्माशोषी अभिक्रिया से आप क्या समझते हैं? उदाहरण सहित समझाएँ।

उत्तर: जिस अभिक्रिया में ऊष्मा निकलती है उसे ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया कहते हैं। इस अभिक्रिया का उदाहरण नीचे दिया गया है:

जब प्राकृतिक गैस का दहन हवा में होता है तो कार्बन डाइऑक्साइड और जल का निर्माण होता है। इस अभिक्रिया में भारी मात्रा में ऊष्मा निकलती है।

CH4 (g) + 2O2 (g) ⇨ CO2 (g) + 2H2O (g)

ऊष्माशोषी अभिक्रिया: जिस अभिक्रिया में ऊष्मा का शोषण होता है उसे ऊष्माशोषी अभिक्रिया कहते हैं। इस अभिक्रिया का उदाहरण नीचे दिया गया है।

जब कैल्सियम कार्बोनेट को गर्म किया जाता है तो इसका विघटन होता है और कैल्सियम ऑक्साइड तथा कार्बन डाइऑक्साइड का निर्माण होता है।

CaCO3 (s) ⇨ CaO (s) + CO2 (g)

प्रश्न 10: श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया क्यों माना जाता है? समझाएँ।

उत्तर: श्वसन की प्रक्रिया में ऊष्मा निकलती है इसलिये इसे एक ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया माना जाता है। इस अभिक्रिया में ग्लूकोज का दहन होता है और कार्बन डाइऑक्साइड, जल तथा ऊष्मा निकलती है।

C6H12O6 (aq) + 6O2 (aq) ⇨ 6CO2 (aq) + 6H2O (l) + Energy

प्रश्न 11: वियोजन अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया के विपरीत क्यों माना जाता है? ऐसी अभिक्रियाओं के समीकरण लिखें।

उत्तर: किसी संयोजन अभिक्रिया में दो या अधिक अभिकारक मिलकर एक उत्पाद का निर्माण करते हैं। किसी वियोजन अभिक्रिया में एक अभिकारक विघटित होकर दो या अधिक उत्पादों का निर्माण करता है। इसलिए दोनों अभिक्रियाओं को एक दूसरे का विपरीत माना जाता है।

जब कैल्सियम ऑक्साइड और जल के बीच अभिक्रिया होती है तो कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड का निर्माण होता है। यह एक संयोजन अभिक्रिया है।

CaO(s) + H2O(l) ⇨ Ca(OH)2 (aq)

जब फेरस सल्फेट को एक टेस्ट ट्यूब में गर्म किया जाता है तो यह विघटित होकर फेरिक ऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और सल्फर ट्राइऑक्साइड का निर्माण करता है। यह एक वियोजन अभिक्रिया है।

2FeSO4 (s) ⇨ Fe2O3 (s)+ SO2 (g)+ SO3 (g)

प्रश्न 12: जब ऊष्मा, प्रकाश और विद्युत के रूप में ऊर्जा मिलने से वियोजन अभिक्रिया होती है तो अलग-अलग अभिक्रियाएँ होती हैं। इन सबके एक-एक उदाहरण दें।

उत्तर: निम्नलिखित अभिक्रिया में ऊष्मा के कारण वियोजन हो रहा है।

2FeSO4 (s) ⇨ Fe2O3 (s)+ SO2 (g)+ SO3 (g)

नीचे दी गई अभिक्रिया में विद्युत ऊर्जा के कारण वियोजन हो रहा है।

2H2O ⇨ 2H2 + O2

नीचे दी गई अभिक्रिया में प्रकाश ऊर्जा के कारण वियोजन हो रहा है।

2AgCl (s) ⇨ 2Ag (s) + Cl2 (g)


प्रश्न 13: विस्थापन और द्वि-विस्थापन अभिक्रियाओं के बीच क्या अंतर है? दोनों के उदाहरण दें।

उत्तर: विस्थापन अभिक्रिया में एक अधिक प्रतिक्रियाशील धातु किसी साल्ट से एक कम प्रतिक्रियाशील धातु का विस्थापन करता है। लेकिन द्वि-विस्थापन अभिक्रिया में दो यौगिकों के बीच आयनों का परस्पर आदान प्रदान होता है।

नीचे दी गई अभिक्रिया एक विस्थापन अभिक्रिया है। यहाँ पर कॉपर सल्फेट से आयरन द्वारा कॉपर का विस्थापन हो रहा है।

CuSO4 (aq) + Fe (s) ⇨ FeSO4 (aq) + Cu (s)

नीचे दी गई अभिक्रिया एक द्वि-विस्थापन अभिक्रिया है। यहाँ पर सल्फेट और क्लोराइड आयन का आदान प्रदान हो रहा है।

Na2SO4 (aq) + BaCl2 (aq) ⇨ BaSO4 (s) + 2NaCl (aq)

प्रश्न 14: सिल्वर नाइट्रेट के विलयन से सिल्वर निकालने के लिये कॉपर से विस्थापन कराया जाता है। इस अभिक्रिया के समीकरण को लिखें।

उत्तर: 2AgNO3 (aq) + Cu (s) ⇨ Cu(NO3)2 (aq) + 2Ag (s)

प्रश्न 15: अवक्षेपण से क्या समझते हैं? उदाहरण सहित समझाएँ।

उत्तर: जब किसी अभिक्रिया का कोई उत्पाद जल में अघुलनशील होता है, तो अभिक्रिया को अवक्षेपण कहते हैं। इस अभिक्रिया का उदाहरण नीचे दिया गया है।

जब बेरियम क्लोराइड और अलमुनियम सल्फेट के बीच अभिक्रिया होती है तो बेरियम सल्फेट का अवक्षेप बनता है।

3BaCl2 + Al2(SO4 )3 ⇨ 2AlCl3 + 3BaSO4

प्रश्न 16: निम्नलिखित शब्दों के अर्थ को ऑक्सीजन के पाने या खोने के संदर्भ में उदाहरण सहित करें।

प्रश्न (a): ऑक्सीकरण

उत्तर: किसी पदार्थ द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण करने की प्रक्रिया को ऑक्सीकरण कहते हैं। निम्नलिखित अभिक्रिया में कॉपर का ऑक्सीकरण हो रहा है।

2Cu + O2 ⇨ 2CuO

प्रश्न (b): अवकरण

उत्तर: किसी पदार्थ से ऑक्सीजन के हटने की प्रक्रिया को अवकरण कहते हैं। निम्नलिखित अभिक्रिया में कॉपर ऑक्साइड का अवकरण हो रहा है।

CuO + H2 ⇨ Cu + H2O

प्रश्न 17: एक भूरे रंग का तत्व ‘X’ है। इसे जब हवा में गर्म किया जाता है तो इसका रंग काला हो जाता है। तत्व ‘X’ और काले रंग के पदार्थ का नाम बताएँ।

उत्तर: भूरे रंग का तत्व कॉपर है और काले रंग का कंपाउंड कॉपर ऑक्साइड है। जब कॉपर को अत्यधिक गर्म किया जाता है तो यह ऑक्सीजन के साथ मिलकर कॉपर ऑक्साइड बनाता है। इसे निम्नलिखित समीकरण द्वारा दर्शाया जा सकता है।

2Cu + O2 ⇨ 2CuO

प्रश्न 18: लोहे के सामान पर पेंट क्यों चढ़ाया जाता है?

उत्तर: पेंट की परत लोहे और वायुमंडल में मौजूद नमी के बीच होने वाली अभिक्रिया को रोकता है। इस तरह से लोहे में जंग की रोकथाम होती है। इसलिये लोहे के सामान पर पेंट चढ़ाया जाता है ताकि लोहे के सामान की आयु बढ़ाई जा सके।

प्रश्न 19: तेल और वसायुक्त खाद्य पदार्थों में नाइट्रोजन गैस क्यों मिलाई जाती है?

उत्तर: जब तेल और वसायुक्त खाद्य पदार्थों में नाइट्रोजन गैस मिलाई जाती है तो इससे उस खाद्य पदार्थ के पैकेट से ऑक्सीजन को हटाने में मदद मिलती है। इससे तैलीय खाद्य पदार्थ और ऑक्सीजन के बीच होने वाली अभिक्रिया को रोका जा सकता है। इससे तैलीय खाद्य पदार्थ को रैंसिडिटी के कारण खराब होने से बचाया जा सकता है।

प्रश्न 20: निम्नलिखित को उदाहरण सहित समझाएँ।

प्रश्न(a): कोरोजन

उत्तर: धातु की प्रवृत्ति होती है कि वह वायुमंडल में उपस्थित ऑक्सीजन, नमी और कुछ अन्य पदार्थों से प्रतिक्रिया करता है। उदाहरण के लिये; लोहा वायुमंडल में मौजूद नमी से अभिक्रिया करता है जिससे उसके ऊपर एक भूरी परत बन जाती है जिसे जंग कहते हैं। इस प्रक्रिया को लोहे में जंग लगना कहते हैं। लोहे के जंग में बदलने के कारण लोहे के सामान में से धीरे धीरे लोहा समाप्त होने लगता है। इस प्रक्रिया को कोरोजन या संक्षारण कहते हैं।

प्रश्न(b): रैंसिडिटी

उत्तर: जब तेल और वसा का ऑक्सीकरण होता है तो उसमें से अजीब से गंध आने लगती है और उसका स्वाद खराब हो जाता है। इस प्रक्रिया को रैंसिडिटी कहते हैं और उस तरह के तैलीय भोजन को रैंसिड कहते हैं। किसी तले हुए भोजन को रैंसिड होने से बचाने के लिये उसे सही तरीके से पैक करना जरूरी होता है। आलू के चिप्स को एअर-टाइट पैकेट में पैक किया जाता है जिसके अंदर नाइट्रोजन गैस भरी जाती है। इससे आलू के चिप्स को अधिक समय तक ताजा रखने में मदद मिलती है।


Copyright © excellup 2014