परमाणु एवं अणु

रासायनिक संयोजन के नियम

लवाइजिए एवं प्राउस्ट ने रासायनिक संयोजन के दो नियम दिये जो नीचे दिये गये हैं।

द्रव्यमान संरक्षण का नियम: किसी रासायनिक अभिक्रिया में द्रव्यमान का न तो सृजन किया जा सकता है न ही विनाश।

स्थिर अनुपात का नियम: किसी भी यौगिक में उसके संघटक तत्व हमेशा द्रव्यमानों के एक निश्चित अनुपात में उपस्थित रहते हैं। उदाहरण: जल के अणु में हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के द्रव्यमानों का अनुपात हमेशा 1 : 8 रहता है। अमोनिया के अणु में नाइट्रोजन और हाइड्रोजन के द्रव्यमानों का अनुपात हमेशा 14 : 3 रहता है।


डाल्टन का परमाणु सिद्धांत

डाल्टन का सिद्धांत रासायनिक संयोजन के नियमों पर आधारित था। डाल्टन के परमाणु सिद्धांत ने द्रव्यमान के संरक्षण के नियम एवं निश्चित अनुपात के नियम की युक्तिसंगत व्याख्या की। डाल्टन के परमाणु सिद्धांत के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं:

परमाणु

हर द्रव्य की रचनात्मक इकाई परमाणु है। परमाणु का आकार अत्यंत सूक्ष्म होता है। परमाणु की त्रिज्या को नैनोमीटर में मापा जाता है। नैनोमीटर और मीटर की तुलना नीचे दी गई है।

1 nm = 10-9 m

1 m = 109 nm

नीचे दिये गये टेबल से आपको परमाणु के आकार का अंदाजा लग सकता है।

त्रिज्या (मीटर)उदाहरण
10-10हाइड्रोजन परमाणु
10-9जल अणु
10-8हीमोग्लोबिन अणु
10-4रेत कण
10-3चींटी
10-1सेब

कुछ तत्वों के प्रतीक

तत्वप्रतीकतत्वप्रतीकतत्वप्रतीक
ऐलुमिनियमAlकॉपरCuनाइट्रोजनN
आर्गनArफ्लुओरीनऑक्सीजनO
बेरियमBaस्वर्णAuपोटैशियमK
बोरॉनBहाइड्रोजनHसिलिकॉनSi
ब्रोमिनBrआयोडीनIचाँदीAg
कैल्सियमCaआयरनFeसोडियमNa
कार्बनCसीसाPbसल्फरS
क्लोरीनClमैग्नीशियमMgयूरेनियमU
कोबाल्टCoनियॉनNeजिंकZn

परमाणु द्रव्यमान

कार्बन-12 समस्थानिक के एक परमाणु के द्रव्यमान के 12 वें भाग को परमाणु द्रव्यमान की एक इकाई माना जाता है। इसे amu से दिखाते हैं या u से। आजकल u का प्रयोग अधिक मान्य है।

तत्वपरमाणु द्रव्यमान (u)
हाइड्रोजन1
कार्बन12
नाइट्रोजन14
ऑक्सीजन16
सोडियम23
मैग्नीशियम24
सल्फर32
क्लोरीन35.5
कैल्सियम40

अणु: तत्व या यौगिक का वह सूक्ष्मतम कण जो स्वतंत्र रूप से अस्तित्व में रह सकता है, अणु कहलाता है। एक अणु एक या उससे अधिक परमाणुओं के मिलने से बनता है। यौगिक का अणु बनाने के लिए कम से कम दो परमाणुओं की आवश्यकता होती है।

तत्वों के अणु: तत्वों के अणु एक या दो या उससे अधिक परमाणुओं के मिलने से बनते हैं। इस आधार पर किसी तत्व के अणु को एकपरमाणुक या द्विपरमाणुक या त्रिपरमाणुक कहते हैं।

एकपरमाणुकद्विपरमाणुकत्रिपरमाणुकचतुर्परमाणुकबहुपरमाणुक
आर्गन, हीलियम, सोडियम, आयरन, ऐलुमिनियम, कॉपरऑक्सीजन, हाइड्रोजन, नाइट्रोजन, क्लोरीनओजोनफॉस्फोरससल्फर


Copyright © excellup 2014