ध्वनि

NCERT अभ्यास

प्रश्न 1: ध्वनि संचरित हो सकती है,

  1. केवल वायु या गैसों में
  2. केवल ठोसों में
  3. केवल द्रवों में
  4. ठोसों, द्रवों तथा गैसों में

उत्तर: (d) ठोसों, द्रवों तथा गैसों में

प्रश्न 2: निम्न में से किस वाक ध्वनि की आवृत्ति न्यूनतम होने की सम्भावना है

  1. छोटी लड़की की
  2. छोटे लड़के की
  3. पुरुष की
  4. महिला की

उत्तर: (c) पुरुष की


प्रश्न 3: निम्नलिखित कथनों में सही या गलत का निशान लगाइए

  1. ध्वनि निर्वात में संचरित नहीं हो सकती
  2. किसी कंपित वस्तु के प्रति सेकंड होने वाले दोलनों की संख्या को इसका आवर्तकाल कहते हैं।
  3. यदि कंपन का आयाम अधिक है तो ध्वनि मंद होती है।
  4. मानव कानों के लिए श्रव्यता का परास 20 हर्ट्ज से 20,000 हर्ट्ज है।
  5. कंपन की आवृत्ति जितनी कम होगी तारत्व उतना ही अधिक होगा।
  6. अवांछित या अप्रिय ध्वनि को संगीत कहते हैं।
  7. ध्वनि प्रदूषण आंशिक श्रवण अशक्तता उत्पन्न कर सकता है।

उत्तर: (a) T, (b) F, (c) F, (d) T, (e) F, (f) F, (g) T

प्रश्न 4: रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

  1. किसी वस्तु द्वारा एक दोलन को पूरा करने में लिए गए समय को ............. कहते हैं।
  2. प्रबलता कम्पन के ............ से निर्धारित की जाती है।
  3. आवृत्ति का मात्रक ................ है।
  4. अवांछित ध्वनि को .............. कहते हैं।
  5. ध्वनि की तीक्ष्णता कंपनों की ........... से निर्धारित होती है।

उत्तर: (a) आवर्तकाल, (b) आयाम, (c) हर्ट्ज, (d) शोर, (e) आवृत्ति

प्रश्न 5: एक दोलक 4 सेकंड में 40 बार दोलन करता है। इसका आवर्तकाल तथा आवृत्ति ज्ञात कीजिए।

उत्तर: आवर्तकाल = समय ÷ दोलन की संख्या

= 4 ÷ 40 = 0.1 सेकंड

आवृत्ति = दोलन की संख्या ÷ समय

= 40 ÷ 4 = 10 हर्ट्ज

प्रश्न 6: एक मच्छर अपने पंखों को 500 कम्पन प्रति सेकंड की औसत दर से कंपित करके ध्वनि उत्पन्न करता है। कंपन का आवर्तकाल कितना है?

उत्तर: आवर्तकाल = समय ÷ दोलन की संख्या

= 1 ÷ 500 = 0.002 सेकंड

प्रश्न 7: निम्न वाद्ययंत्रों में उस भाग को पहचानिए जो ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कंपित होता है

(a) ढ़ोलक

उत्तर: तनित झिल्ली

(b) सितार

उत्तर: तनित तार

(c) बांसुरी

उत्तर: एयर कॉलम


प्रश्न 8: शोर तथा संगीत में क्या अंतर है? क्या कभी संगीत शोर बन सकता है?

उत्तर: मधुर ध्वनि को संगीत कहते हैं, जबकि अप्रिय ध्वनि को शोर कहते हैं। संगीत जब अधिक जोर से बजता है तो शोर बन जाता है।

प्रश्न 9: अपने वातावरण में ध्वनि प्रदूषण के स्रोतों की सूची बनाइए।

उत्तर: गाड़ियों की आवाज, हॉर्न की आवाज, फैक्ट्री से आने वाली आवाज, निर्माण स्थल पर होने वाला काम, आदि

प्रश्न 10: वर्णन कीजिए कि ध्वनि प्रदूषण मानव के लिए किस प्रकार से हानिकारक है?

उत्तर: लंबे समय तक ध्वनि प्रदूषण के असर के कारण अनिद्रा, उच्च रक्तचाप, चिंता और कई अन्य परेशानियाँ होती हैं। कभी कभी ध्वनि प्रदूषण के कारण सुनने की शक्ति भी खराब हो जाती है।

प्रश्न 11: आपके माता-पिता एक मकान खरीदना चाहते हैं। उन्हें एक मकान सड़क के किनार पर तथा दूसरा सड़क से तीन गली छोड़कर देने का प्रस्ताव किया गया है। आप अपने माता-पिता को कौन सा मकान खरीदने का सुझाव देंगे? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।

उत्तर: मैं सड़क से तीन गली छोड़कर स्थित मकान खरीदने की सलाह दूँगा। उस मकान में वाहनों से होने वाले शोर की समस्या कम हो जाएगी। इससे हम ध्वनि प्रदूषण के बुरे असर से बच पाएँगे।

प्रश्न 12: मानव वाक्यंत्र का चित्र बनाइए तथा इसके कार्य की अपने शब्दों में व्याख्या कीजिए।

Structure of Vocal Chord

उत्तर: इंसानों में स्वरयंत्र या लैरिंक्स से ध्वनि उत्पन्न होती है। यह श्वास नली के ऊपरी भाग में स्थित होता है। लैरिंक्स के आर पार दो वोकल कॉर्ड तने हुए रहते हैं और उन दोनों के बीच एक पतली सी झिर्री होती है। जब उस झिर्री से हवा तेजी से निकलती है तो वोकल कॉर्ड में कम्पन होता है और ध्वनि उत्पन्न होती है। वोकल कॉर्ड से जुड़ी हुई पेशियों की मदद से हम अपने वोकल कॉर्ड को ढ़ीला या तना हुआ कर पाते हैं। वोकल कॉर्ड के ढ़ीले या तने हुए होने के कारण आवाज बदलती रहती है।

प्रश्न 13: आकाश में तड़ित तथा मेघगर्जन की घटना एक समय पर तथा हमसे समान दूरी पर घटित होती है। हमें तड़ित पहले दिखाई देता है तथा मेघगर्जन बाद में सुनाई देता है। क्या आप इसकी व्याख्या कर सकते हैं?

उत्तर: हम जानते हैं कि प्रकाश की गति, ध्वनि की गति से बहुत अधिक होती है। इसलिए समान दूरी से ध्वनि की तुलना में प्रकाश को हम तक पहुँचने में कम समय लगता है। इसलिए तड़ित पहले दिखाई देता है और मेघगर्जन बाद में सुनाई देता है।



Copyright © excellup 2014