इलेक्ट्रोकेमिस्ट्री

NCERT अभ्यास

प्रश्न 1: रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

  1. विद्युत चालन करने वाले अधिकांश द्रव ..............., …………… तथा ................. के विलयन होते हैं।
  2. किसी विलयन से विद्युत धारा प्रवाहित होने पर ............... प्रभाव उत्पन्न होता है।
  3. यदि कॉपर सल्फेट विलयन से विद्युत धारा प्रवाहित की जाए तो कॉपर बैटरी के ............... टर्मिनल से संयोजित प्लेट पर निक्षेपित होता है।
  4. विद्युत धारा द्वारा किसी पदार्थ पर वांछित धातु की परत निक्षेपित करने की प्रक्रिया को .............. कहते हैं।

उत्तर: (a) एसिड, साल्ट, बेस, (b) रासायनिक, (c) नेगेटिव, (d) इलेक्ट्रोप्लेटिंग


प्रश्न 2: जब किसी संपरीक्षित्र के स्वतंत्र सिरों को किसी विलयन में डुबोते हैं तो चुम्बकीय सुई विक्षेपित होती है। क्या आप ऐसा होने के कारण की व्याख्या कर सकते हैं?

उत्तर: जब किसी चालक से होकर इलेक्ट्रिक करेंट बहती है तो चालक के आस पास चुम्बकीय क्षेत्र बन जाता है। इसे विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव कहते हैं। इसलिए जब किसी संपरीक्षित्र के स्वतंत्र सिरों को किसी विलयन में डुबोते हैं तो चुम्बकीय सुई विक्षेपित होती है।

प्रश्न 3: ऐसे तीन द्रवों के नाम लिखिए जिनका परीक्षण चित्र में दर्शाए अनुसार करने पर चुम्बकीय सुई विक्षेपित हो सके।

Setup for Electrochemistry

उत्तर: नल का पानी, नमक का घोल, सोडा का घोल

प्रश्न 4: इस चित्र में दर्शाई गई व्यवस्था में बल्ब नहीं जलता। क्या आप सम्भावित कारणों की सूची बना सकते हैं? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।

Setup for Electrochemistry

उत्तर: दिया गया विलयन इलेक्ट्रिक का हीन चालक हो सकता है। ऐसी स्थिति में सर्किट से इलेक्ट्रिक करेंट का प्रवाह तो होता है लेकिन हीन चालक के कारण बल्ब नहीं जलता है।

प्रश्न 5: दो द्रवों A तथा B, के विद्युत चालन की जाँच करने के लिए एक संपरीक्षित्र का प्रयोग किया गया। यह देखा गया की संपरीक्षित्र का बल्ब द्रव A के लिए चमकीला दीप्त हुआ जबकि द्रव B के लिए अत्यंत धीमा दीप्त हुआ। आप निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि

  1. द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है
  2. द्रव B, द्रव A से अच्छा चालक है
  3. दोनों द्रवों की चालकता समान है
  4. द्रवों की चालकता के गुणों की तुलना इस प्रकार नहीं की जा सकती

उत्तर: (a) द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है

प्रश्न 6: क्या शुद्ध जल विद्युत का चालन करता है? यदि नहीं, तो इसे चालक बनाने के लिए हम क्या कर सकते हैं?

उत्तर: शुद्ध जल विद्युत का चालन नहीं करता है। इसे चालक बनाने के लिए इसमें नमक या सोडा या सिरका मिला सकते हैं।


प्रश्न 7: आग लगने के समय, फायरमैन पानी के होज (पाइपों) का उपयोग करने से पहले उस क्षेत्र की मुख्य विद्युत आपूर्ति को बंद कर देते हैं। व्याख्या कीजिए कि वे ऐसा क्यों करते हैं।

उत्तर: साधारण जल में कुछ लवण घुले रहते हैं। इसलिए साधारण जल विद्युत का सुचालक होता है। इसलिए फायरमैन को आग बुझाते समय पानी का इस्तेमाल करते समय बिजली का झटका लगने का खतरा रहता है। इसलिए आग लगने के समय, फायरमैन पानी के होज (पाइपों) का उपयोग करने से पहले उस क्षेत्र की मुख्य विद्युत आपूर्ति को बंद कर देते हैं।

प्रश्न 8: तटीय क्षेत्र में रहने वाला एक बालक अपने संपरीक्षित्र से पीने के पानी तथा समुद्र के पानी का परीक्षण करता है। वह देखता है कि समुद्र के पानी के लिए चुम्बकीय सुई अधिक विक्षेप दर्शाती है। क्या आप इसके कारण की व्याख्या कर सकते हैं?

उत्तर: पीने के पानी की तुलना में समुद्र के पानी में अत्यधिक लवण घुले रहते हैं। इसलिए पीने के पानी की तुलना में समुद्र का पानी विद्युत का बहुत ही प्रबल सुचालक है। इसलिए समुद्र के पानी के लिए चुम्बकीय सुई अधिक विक्षेप दर्शाती है।

प्रश्न 9: क्या तेज वर्षा के समय किसी लाइनमैन के लिए बाहरी मुख्य लाइन के विद्युत तारों की मरम्मत करना सुरक्षित होता है? व्याख्या कीजिए।

उत्तर: वर्षा के पानी में लवण घुले रहते हैं। इसलिए तेज वर्षा के समय किसी लाइनमैन के लिए बाहरी मुख्य लाइन के विद्युत तारों की मरम्मत करना सुरक्षित नहीं होता है। उसे बिजली का झटका लग सकता है।

प्रश्न 10: पहेली ने सुना था कि वर्षा का जल उतना ही शुद्ध है जितना की आसुत जल। इसलिए उसने एक स्वच्छ काँच के बरतन में कुछ वर्षा का जल एकत्रित करके संपरीक्षित्र से उसका परिक्षण किया। उसे यह देखकर आश्चर्य हुआ कि चुम्बकीय सुई विक्षेप दर्शाती है। इसका क्या कारण हो सकता है?

उत्तर: वर्षा का पानी आसुत जल की तरह ही होता है। लेकिन बादलों से धरती तक आने के दौरान इसमें कई लवण मिल जाते हैं। इसलिए पहेली ने जब वर्षा के जल में संपरीक्षित्र से परीक्षण किया तो चुम्बकीय सुई में विक्षेप हुआ।

प्रश्न 11: अपने आस पास उपलब्ध विद्युतलेपित वस्तुओं की सूची बनाईए।

उत्तर: साइकिल का हैंडल, साइकिल की रिम, बाथरूम में नल और शावर कैप, घड़ी की सुनहरी बेल्ट, आदि।

प्रश्न 12: जो प्रक्रिया आपने क्रियाकलाप 14.7 में देखी वह कॉपर के शोधन में उपयोग होती है। एक पतली शुद्ध कॉपर की छड़ एवं एक अशुद्ध कॉपर की छड़ इलेक्ट्रोड के रूप में उपयोग की जाती है। कौन सा इलेक्ट्रोड बैटरी के धन टर्मिनल से संयोजित किया जाए? कारण भी लिखिए।

उत्तर: अशुद्ध कॉपर को धन टर्मिनल (एनोड) से जोड़ना चाहिए। एक धातु होने के कारण कॉपर पर पॉजिटिव चार्ज रहता है। हम जानते हैं कि समान आवेश में विकर्षण होता है। इसलिए पॉजिटिव चार्ज वाले कॉपर आयन धन टर्मिनल से दूर जाते हैं और ऋण टर्मिनल पर जमा हो जाते हैं।



Copyright © excellup 2014